Day Special

साल 2021 रिकॉर्ड ऊंचाई पर: सेंसेक्स 62245, निफ्टी 18604 ने बनाया नया रिकॉर्ड

साल 2021 रिकॉर्ड ऊंचाई पर: सेंसेक्स 62245, निफ्टी 18604 ने बनाया नया रिकॉर्ड content image 03ae1e27 8f9b 4dfb 830a 09f85f65fb83 - Shakti Krupa | News About India

2021 का रिकॉर्ड रिकॉर्ड ऊंचा: सेंसेक्स 3, निफ्टी 1903 ने बनाया नया इतिहास

साल 2021 रिकॉर्ड ऊंचाई पर: सेंसेक्स 62245, निफ्टी 18604 ने बनाया नया रिकॉर्ड content image 0a102f96 5bd9 4fbe 8e01 62d5b3524163 - Shakti Krupa | News About Indiaकैलेंडर वर्ष 2021 भारतीय शेयर बाजारों ने रिकॉर्ड रैली देखी है। स्टॉक ऐतिहासिक रूप से आकर्षक रहा है, उच्च निवल मूल्य वाले निवेशकों, विदेशी फंडों, स्थानीय फंडों के साथ-साथ खुदरा निवेशकों के हर वर्ग ने भाग्य बनाया है। सेंसेक्स 20 इंडेक्स 18 अक्टूबर 2021 को 4.5 की नई ऐतिहासिक ऊंचाई पर पहुंच गया है। बेशक, यह नया इतिहास रचने के बाद सेंसेक्स ने साल के अंत में 20 दिसंबर 2021 को फिर से 2000 के स्तर को पार कर 313 के करीब इस तरह का झटका दिया है। सालाना आधार पर सेंसेक्स 31 दिसंबर, 2020 के 31.3 के स्तर से 12 अंक बढ़कर साल के अंत में यानी 9 दिसंबर 2021 को 216 के स्तर पर 9 के नए इतिहास पर पहुंच गया है। यानी सालाना आधार पर 3 अंकों की बढ़ोतरी। निफ्टी 20 स्पॉट इंडेक्स 12 अक्टूबर, 2021 को 1903.8 के नए उच्च स्तर पर पहुंच गया। निफ्टी 20 इंडेक्स ने 31 दिसंबर, 2020 को 191.8 के स्तर से 21 अंक की छलांग लगाकर 1905 का नया इतिहास रच दिया। अंत में, यह वार्षिक आधार पर 1908 के स्तर पर रहा है। जिसमें सालाना आधार पर 31 अंक की बढ़ोतरी हुई है।

Captio+Falguni+UPI+Startup+Stock Market=निवेशकों के चेहरों पर मुस्कान…

किसी भी देश की आर्थिक व्यवस्था अपना चेहरा बदल देती है। आर्थिक क्षेत्र में 2021 भारत के लिए शुभ रहा। बेशक, जैसे-जैसे महंगाई बढ़ी है, वैसे-वैसे आर्थिक समृद्धि भी बढ़ी है। ऐसे समय में जब कोरा के बाद पूरी क्रिप्टो दुनिया मंदी की चपेट में थी, 2021 में कोरोना के बढ़ने के बावजूद निवेशक मुस्कुरा रहे थे। माल और सेवा कर और यूपीआई भुगतान प्रणाली से रिकॉर्ड राजस्व ने अर्थव्यवस्था में क्रांति ला दी है। ई-कॉमर्स ने भी अद्भुत काम किया है। लोग इलेक्ट्रॉनिक्स से लेकर किराने का सामान ऑनलाइन ऑर्डर कर रहे हैं। शेयर बाजारों से लेकर कमोडिटी और स्टार्ट-अप तक, यूनिकॉर्न कंपनियां अर्थव्यवस्था को ऊंचा उठा रही हैं। भारत के सूचना और प्रौद्योगिकी क्षेत्र ने आर्थिक व्यवस्था को समर्थन देना जारी रखा भारतीय कंपनियों ने विलय और अधिग्रहण के क्षेत्र में अपना हाथ बढ़ाया। टेलिकॉम सेक्टर में Vodafone Idea का रिंग खो गया था। दूरसंचार समर्थन और टैरिफ वृद्धि पर ध्यान देने के साथ, वोडाफोन आइडिया इसे हासिल करने के लिए सरकार की अनिच्छा से प्रभावित हुई है। Vodafone Idea के लिए साल 207 अहम रहेगा। टेलीकॉम सेक्टर फाइव जीएस के लिए तैयार है। इसके लिए कई टेलिकॉम कंपनियों ने टेक्नोलॉजी लगाई है। मोबाइल कंपनियों ने फाइव-जी फोन लॉन्च कर दिए हैं। ज्यादा से ज्यादा लोगों को टैक्स देने की सरकार की कोशिशें कामयाब हो रही हैं. ऑनलाइन टैक्स फॉर्म दो महीने से विवादों में है।

इंफोसिस द्वारा बनाई गई साइट समय-समय पर हैंग होती रहती थी। वित्त मंत्री ने खुद इंफोसिस के आईटी विशेषज्ञों से प्रभावी साइट के लिए अनुरोध किया था। वर्ष 2021 के दौरान, अफवाहें फैल रही थीं कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को हटा दिया जाएगा, हालांकि, मोदी सरकार ने उन पर भरोसा करना जारी रखा। 2021 में ई-कॉमर्स सेक्टर का टर्नओवर 5 बिलियन का था और इसने लगभग 20 मिलियन रिटेलर्स के लिए ऑनलाइन सामान बेचने का अवसर पैदा किया। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय में राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि भारत एक ट्रिलियन डिजिटल अर्थव्यवस्था की ओर बढ़ रहा है। अक्टूबर 2012 में जीएसटी संग्रह 130.15 करोड़ रुपये था। शेल कंपनियों पर हमले के बाद फर्जी बिलिंग पर रोक लगा दी गई लेकिन जीएसटी चोरी में शामिल लोगों को समय-समय पर पकड़ा जा रहा है। आर्थिक क्षेत्र में सरकार को बैंकों द्वारा परेशान किया गया है। गैर-निष्पादित आस्तियों में कमी विशेष रूप से सफल नहीं रही है। बैंक बहुत मध्यम वर्ग के ग्राहकों का विश्वास नहीं जीत पाए हैं। कोरोना काल में सरकारी सहायता के वितरण का जिम्मा बैंकों को दिया गया था लेकिन बैंकों ने इसे चलाना जारी रखा। 2021 में बैंकों के रवैये में कोई सुधार नहीं आया है। सरकार ने अभी तक कॉरपोरेट्स को अपने बैंक स्थापित करने की अनुमति नहीं दी है। सरकार विनिवेश क्षेत्र में 1.5 लाख करोड़ रुपये जुटाना चाहती थी लेकिन सरकार ने ऐसा कोई साहस नहीं दिखाया। सरकार ने कर्ज के ढेर से निकालकर टाटा ग्रुप की बागडोर एयर इंडिया को सौंप दी थी। आखिरकार टाटा द्वारा स्थापित एयरलाइंस उनके पास वापस आ गई। भारत में नई एयरलाइंस भी उभरीं। हालांकि, 2021 के आखिरी तीन महीनों में घरेलू एयरलाइंस के साथ-साथ ट्रैवल इंडस्ट्री फिर से फली-फूली। साल 2021 में आर्थिक क्षेत्र ने लगातार तरक्की की थी जिसमें सुख-दुख का माहौल भी देखने को मिला था।

Photo of KJMENIYA

KJMENIYA

Hi, I am Kalpesh Meniya from Kaniyad, Botad, Gujarat, India. I completed BCA and MSc (IT) in Sharee Adarsh Education Campus-Botad. I know the the more than 10 programming languages(like PHP, ANDROID,ASP.NET,JAVA,VB.NET, ORACLE,C,C++,HTML etc..). I am a Website designer as well as Website Developer and Android application Developer.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button